हर्षा इंजीनियर्स का IPO आज से खुला:प्राइस बैंड 314-330 रुपए प्रति शेयर, 45 शेयर्स का लॉट साइज; इन्वेस्ट करने पर मिल सकता है 70% का रिटर्न
Spread the love

हर्षा इंजीनियर्स इंटरनेशनल लिमिटेड (HEIL) का इनिशियल पब्लिक ऑफर (IPO) आज यानी बुधवार (14 सितंबर) से पब्लिक सब्सक्रिप्शन के लिए ओपन हो गया है। इस IPO में इन्वेस्टर्स 17 सितंबर 2022 तक इन्वेस्ट कर सकते हैं। HEIL के IPO का प्राइस बैंड 314 से 330 रुपए प्रति इक्विटी शेयर है। यह IPO पहले दिन 2.84 गुना सब्सक्राइब भी हो चुका है।

कम से कम 14,850 रुपए कर सकते हैं इन्वेस्ट
‌BSE की वेबसाइट के मुताबिक, IPO का लॉट साइज 45 शेयर्स का है। मतलब रिटेल इनवेस्टर्स कम से कम 45 शेयर्स खरीद सकते हैं। जिसके लिए 14,850 रुपए का इन्वेस्टमेंट करना होगा। वहीं इसके मैक्सिमम 13 लॉट खरीद सकते हैं। जिसके लिए इनवेस्टर्स मैक्सिमम 1,93,050 रुपए का इन्वेस्टमेंट कर सकते हैं।

www.vagmiinfotech.com

इन्वेस्ट करने पर मिल सकता है 70% रिटर्न
कंपनी का IPO ओपन होने के पहले ही इसका शेयर 14 सितंबर को ग्रे मार्केट में 70% यानी 210 रुपए प्रति शेयर के प्रीमियम पर पहुंच गया है। ग्रे मार्केट प्राइस (GMP) के हिसाब से देखें तो अपर प्राइस बैंड 330 रुपए के लिहाज से इसकी लिस्टिंग 26 सितंबर को 540 रुपए यानी 70% के प्रीमियम के साथ हो सकती है।

एक्सपर्ट्स की राय इन्वेस्टमेंट करना चाहिए
यानी GMP के हिसाब से इस IPO में इन्वेस्टमेंट करने से अच्छा रिटर्न मिल सकता है। इसके अलावा कई मार्केट एक्सपर्ट्स का भी मानना है कि इस कंपनी के IPO में इन्वेस्टमेंट करना चाहिए।

इश्यू से 755 करोड़ रुपए जुटाएगी कंपनी
हर्षा इंजीनियर्स के IPO यानी पब्लिक इश्यू का साइज 755 करोड़ रुपए (1,72,12,410 शेयर्स) है। जिसमें 455 करोड़ रुपए की वैल्यू के इक्विटी शेयरों का फ्रेश इश्यू और मौजूदा शेयरहोल्डर्स का 300 करोड़ तक का ऑफर-फॉर-सेल (OFS)शामिल है।

सरल शब्दों में समझें तो ऑफर-फॉर-सेल की पेशकश एक ऐसी प्रोसेस है, जो प्रमोटरों को एक कंपनी में अपनी हिस्सेदारी को ट्रांसपेरेंट तरीके से कम करने की अनुमति देती है। प्रमोटर द्वारा बेचे गए इन शेयरों को जनता को बिक्री के लिए पेश किया जाता है।

35% हिस्सा रिटेल इनवेस्टर्स के लिए रिजर्व
कंपनी के इश्यू का 50% हिस्सा क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल इनवेस्टर्स (QIP) के लिए रिजर्व रखा गया है। इसके अलावा 35% हिस्सा रिटेल इनवेस्टर्स और बाकी 15% हिस्सा नॉन-इंस्टीट्यूशनल इन्वेस्टर्स (NII) के लिए रिजर्व है। कंपनी के शेयर BSE और NSE दोनों पर लिस्ट होंगे।

क्या काम करती है हर्षा इंजीनियर्स?
हर्षा इंजीनियर्स इंटरनेशनल लिमिटेड एविएशन और एयरोस्पेस, रेलवे, ऑटोमोटिव, रिन्यूएबल एनर्जी, एग्रीकल्चर और अन्य इंडस्ट्री के लिए कई तरह के इंजीनियरिंग प्रोडक्ट्स मैन्युफैक्चर करती है। यह कंपनी कंस्ट्रक्शन माइनिंग के सेक्टर में भी इंजीनियरिंग प्रोडक्ट्स प्रोवाइड करती है।

कंपनी IPO से पैसा जुटाकर क्या करेगी?
कंपनी फ्रेश इश्यू से होने वाली कमाई में से 270 करोड़ रुपए का इस्तेमाल डेट पेमेंट के लिए करेगी। 76 करोड़ रुपए से मशीनरी खरीदेगी। इसके अलावा 7.12 करोड़ रुपए का इस्तेमाल कंपनी इंफ्रास्ट्रक्चर को सुधारने के लिए करेगी। पब्लिक होने के लिए यह कंपनी की दूसरी बिड है। इससे पहले कंपनी ने अगस्त 2018 में सिक्योरिटी एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया के साथ अपना ड्राफ्ट पेपर दाखिल किया था।

कंपनी की 5 मैन्युफैक्चरिंग फैसिलिटी हैं। जिनमें से दो प्रमुख मैन्युफैक्चरिंग फैसिलिटी चंगोदर और मोरैया में है, जो गुजरात में अहमदाबाद के पास है। इसके अलावा चांग्शु, चीन और रोमानिया के घिम्बाव ब्रासोव में एक-एक मैन्युफैक्चरिंग यूनिट है।

2022 में कंपनी को हुआ दोगुना प्रॉफिट
ऑपरेशंस से हर्ष इंजीनियर्स का रेवेन्यू फाइनेंशियल ईयर 2022 के लिए 51.24% बढ़कर 1,321.48 करोड़ रुपए हो गया है, जो फाइनेंशियल ईयर 2021 में 873.75 करोड़ रुपए था। जबकि, फाइनेंशियल ईयर 2022 में टैक्स के बाद प्रॉफिट दोगुना होकर 91.94 करोड़ रुपए हो गया, जो फाइनेंशियल ईयर 2021 में 45.44 करोड़ रुपए था।

Leave comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *.