इंटरनेशनल फ्लाइट्स 15 दिसंबर से शुरू नहीं होंगी:ओमिक्रॉन वैरिएंट के कारण बढ़ाया बैन, PM मोदी ने दिए थे समीक्षा करने के निर्देश नई दिल्ली4 घंटे पहले
Spread the love

कोविड-19 वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के खतरे को देखते हुए 15 दिसंबर से इंटरनेशनल फ्लाइट शुरू करने के फैसले को टाल दिया गया है। एविएशन रेगुलेटर DGCA ने बुधवार को कहा कि फिलहाल 15 दिसंबर से चालू होने वाली इंटरनेशनल फ्लाइट के निर्णय पर रोक लगा दी गई है। नई तारीख जल्द ही घोषित की जाएगी। यह फैसला ओमिक्रॉन की वजह से लिया गया है।

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 27 नवंबर को ओमिक्रॉन को लेकर समीक्षा बैठक की थी। इसमें 15 दिसंबर से अंतरराष्ट्रीय यात्रा शुरू करने के फैसले पर विचार करने के लिए कहा गया था। पीएम ने विदेश से आने वाले लोगों की सख्त निगरानी करने की बात भी कही थी।

619 दिनों से लगा है इंटरनेशनल फ्लाइट पर बैन
सरकार ने करीब 619 दिन से इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर बैन लगा रखा है। पिछले साल कोरोना लॉकडाउन से 3 दिन पहले 22 मार्च को इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर बैन लगाया गया था। इस साल 26 नवंबर को बैन खत्म करने की घोषणा की गई थी। इस दौरान कहा गया था कि 15 दिसंबर से 14 देशों को छोड़कर रेगुलर इंटरनेशनल फ्लाइट्स शुरू हो जाएंगी। हालांकि यूके, फ्रांस, जर्मनी, नीदरलैंड, फिनलैंड, साउथ अफ्रीका, ब्राजील, चीन, मॉरीशस, सिंगापुर, बांग्लादेश, बोत्सवाना, जिम्बाब्वे और न्यूजीलैंड को इस लिस्ट से बाहर रखा गया था।

कोरोना का ओमिक्रॉन वैरिएंट खतरनाक क्यों?
कोविड-19 वायरस का नया वैरिएंट ओमिक्रॉन तेजी से म्यूटेट होता है। इस नए वैरिएंट को कुछ महीनों पहले पूरी दुनिया में तबाही मचा चुके डेल्टा से भी अधिक खतरनाक बताया जा रहा है, क्योंकि ओमिक्रॉन में अब तक 50 म्यूटेशन हो चुके हैं।

WHO ने इसे वैरिएंट ऑफ कंसर्न की कैटेगरी में रखा है। इसके स्पाइक प्रोटीन में ही 30 म्यूटेशन हो चुके हैं। दरअसल, स्पाइक प्रोटीन के जरिए ही वायरस इंसान की कोशिकाओं में घुसने के रास्ते को खोलता है। वैक्सीन स्पाइक प्रोटीन के खिलाफ ही एंटीबॉडी तैयार करके शरीर को इसके खिलाफ लड़ने के लिए तैयार करती है।

Leave comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *.